The Kashmir files क्या देखनी चाहिए, ना कोई हीरो सभी विलेन उसके बाद भी सबसे पसंदीदा मूवी

आइये जानते हैं हाल ही में आयी मूवी the Kashmir files क्यों इतनी चर्चा में है क्यों य़ह movie लोगों को पसंद आ रहीं हैं क्या आपको भी य़ह movie देखनी चाहिए क्युकी the Kashmir files में कोई हीरो नहीं है य़ह कहानी है कश्मीरी हिन्दुओं को जिनको एक रात पता चलता है कि अब उनको अपने घर, खेत को छोड़कर जाना होगा आइये जानते हैं क्या कारण रहा और केसे the Kashmir files से राजनीति जुड़ी हुई है

The Kashmir files movie :-

The Kashmir files एक फिल्म नहीं एक सच है जो आपको पता चलना बहुत जरूरी है क्युकी इससे पता चलेगा कि क्या आप एक आरामदायक दुनिया में रहते हैं या नहीं the Kashmir files movie उन लोगों घावों को दिखाती है जो केवल वक्त के साथ नहीं भरते वो हमेशा आपके मन में रह जाते हैं the Kashmir files दो दिनों की कहानी है एक जिसमें हम आज जी रहे हैं और दूसरा 19 जनवरी 1990 जिसमें आज भी कश्मीरी पंडित जी रहे हैं जिस दिन कश्मीर पंडित को उनके घर से बंदूक की नोक उनके घर से निकाल दिया गया था the Kashmir files एक movie है ही नहीं क्योंकि इसमे कोई हीरो नहीं बल्कि सब के सब विलेन है सरकार हाथ पर हाथ रखकर बेठे रहीं मीडिया ने kashmir हिन्दू को ही उनकी हालत का जिम्मेदार ठहराया गया पुलिस जुर्म को अपनी आँखों के सामने देखती रहीं और हमने तीस सालो तक सच मुह फेरा रखा

The Kashmir files एक reminder है कि पूरी दुनिया innocent नहीं है सच को खोज हमे खुद ही करनी होती है   the Kashmir files movie नहीं बल्कि एक museum है इस movie मे काफी scean तो ऐेसे है लगता है कि कोई अपने पड़ोसी के साथ ऐसा केसे कर सकता है

The Kashmir files movie एक सच है जिसे 30 सालो तक इंडियन मीडिया ने दबा के रखा है एक ऐसी मूवी जिसमें ना कोई हीरो हीरोइन का रोमांस ना पैसे देकर रेटिंग हुई ना कोई प्रमोशन लेकिन केवल स्टोरी के base पर एक कमाल की बनी है the Kashmir files movie देखिए तब आपको पता चलेगा कि क्या बीती होगी उन लोगों पर जिनको अपने घर से बिना किसी कारण के निकाल दिया गया और हमारी सरकार सिर्फ हाथ पर हाथ रखकर बेठे रहीं

किसको य़ह the Kashmir files नहीं देखनी चाहिए :-

जिनको कश्मीर जीनोंसाइट  के बारे में पता है उन्हें य़ह फिल्म देखनी चाहिए और जिन्हें नहीं पता उन्हें य़ह जरूर देखनी चाहिए आपको the Kashmir files नहीं देखनी चाहिए अगर आपको चीजों पर पर्दा डालने की आदत है आपको the Kashmir files नहीं देखनी चाहिए अगर आपको सच देखने की आदत नहीं है आपको the kashmir files नहीं देखनी चाहिए अगर आपको लोगों दर्द देखा न जाता हो

और आपको य़ह movie देखनी चाहिए अगर आपको भी लगता है कि कश्मीरी पंडितों को भी अपनी कहानी बताने का अधिकार है

19 जनवरी, 1990 ! वह दिनांक, जो इतिहास में कश्मीरी पंडितों पर अत्याचार, सैकड़ों पंडितों के मारे जाने और अंततः उनके कश्मीर घाटी छोड़ने की  तारीख के रूप में दर्ज है। कश्मीरी पंडितों की दर्दभरी हजारों कहानियों में एक ऐसी कहानी भी है, जिसे सुनकर सुनने वालों के भी रोंगटे खड़े हो जाते हैं। जिनने उसे भोगा होगा, उनका तो क्या हश्र हुआ होगा, इसकी कल्पना भर की जा सकती है।

 

किस्सा जगन्नाथ नामक एक कश्मीरी पंडित का है। एक दिन अचानक रात में उनके घर पर एक अनजान शख्स आया और उर्दू में लिखी एक चिट्टी दे गया। इस चिट्ठी में लिखा था- ‘एक महीने के भीतर अपना घर, खेत, मवेशी… सबकुछ छोड़कर चले जाओ, वरना मारे जाओगे।’ चिट्ठी पाकर जगन्नाथ और उनका परिवार कांप गया। उन्हें इस चेतावनी को इसलिए गंभीरता से लेना था क्योंकि वे जानते थे कि ऐसा होकर रहेगा। अगले ही दिन वे अपने 15 वर्षीय पोते को लेकर जम्मू के लिए निकले और वहां पहुंचकर दो कमरों का एक मकान किराये पर देखा, ताकि घाटी छोड़कर पूरा परिवार सुरक्षित यहां रह सके। सबकुछ तय करके जब पांचवे दिन वे घर लौटे तो वे यह देखकर सन्न रह गए कि बीती रात उनके पूरे परिवार को बेरहमी से काट डाला गया था। अब परिवार में सिर्फ वे और पोता ही बचे थे।

उन्हें भी किसी भी क्षण मार डाला जा सकता था, इसलिए वे पोते सहित जान बचाकर जंगलों में भागे। पैदल-पैदल ही जंगल, नदी, पहाड़ पार करते हुए 20 दिन में जम्मू पहुंचे। जम्मू पहुंचने के बाद बुजुर्ग जगन्नाथ ने पूरा जीवन तवी नदी के किनारे पन्नियों की झोपड़ी बनाकर काटा। उनके पास तो उनके परिवार के एक भी सदस्य की फोटो तक नहीं है,

You must watch

By admin

6 thoughts on “The Kashmir files क्या देखनी चाहिए, ना कोई हीरो, सभी विलेन उसके बाद भी सबसे पसंदीदा मूवी,”

Leave a Reply

Your email address will not be published.